School Girl Group Sex – 2 लडकियों के साथ ग्रुप में चुदाई

School Girl Group Sexमेरा नाम माधव है और ये मेरी बिल्कुल नयी कहानी है. ये कहानी मेरे स्कूल टाईम की है जो कि मेरे साथ हुई थी. ये मेरी ग्रुप सेक्स की कहानी है जिसमें यानी की माधव और 2 लड़कियां है और उन दोनों का नाम कामिनी और दिशा है. ये दोनों लड़कियां स्कूल में मेरी जूनियर्स थी और दोनों लड़कियां सुंदर है और उनके बूब्स भी बड़े-बड़े और मस्त है. दिशा और कामिनी जो मेरी जूनियर्स थी और वो हमेशा मुझे घूरा करती थी, जब में स्कूल में में भाषण दिया करता था तो वो दोनों मुझे एक अजीब सी नज़रों से देखा करती थी, लेकिन तब मैंने इतना ध्यान नहीं दिया. .फिर मेरे स्कूल का फेरवेल नज़दीक आ रहा था और अब स्कूल को गुड बाय कहने का दिन आ रहा था तो एक दिन खाली क्लास में मैंने स्कूल की छत पर जाने का सोचा. में कई बार खाली क्लास में स्कूल की छत पर जाकर फोन पर अपनी गर्लफ्रेंड से बात करने जाता था तो उस दिन जब में छत पर गया तो में हमेशा की तरह वहाँ कोने में जाकर बैठ गया.मैंने देखा कि छत की दूसरी तरफ कोई है, मुझे ऐसा एहसास हुआ और फिर मैंने जाकर देखा तो कामिनी और दिशा दोनों ही वहाँ बैठी थी और एक दूसरे के बूब्स चूस कर रही थी और दबा रही थी और उन दोनों के बूब्स शर्ट के बाहर निकले हुए थे, कामिनी के बूब्स एकदम गोरे थे और उसके पिंक कलर के निप्पल थे और दिशा के बूब्स भी सफ़ेद थे, लेकिन उसके निप्पल ब्राउन कलर के थे.वो दोनों ही गर्म हो चुकी थी तो उनके बूब्स और निप्पल एकदम टाईट हो गये थे, में चुपके से उनको देखने लगा और मैंने अपने मोबाईल में उनकी वीडियो क्लिप ले ली. फिर मैंने सोचा कि बाद में अपने दोस्तों को दिखाऊंगा, लेकिन तब में ये नहीं सोच पाया कि तब अगर में उनको रंगे हाथों पकड़ लेता तो मेरे चुदाई का इंतजाम हो जाता.फिर क्लास की घंटी बजी और सब अपनी अपनी क्लास में चले गये, में स्कूल का हेड बॉय था तो में ग्राउंड चेक करने के बाद लास्ट में क्लास में जाता था. उन दोनों की क्लास मेरी क्लास के बिल्कुल सामने थी और विंडो से में उन दोनों को देख सकता था, में जब भी अपनी सीट पर बैठा होता था और जब भी में बाहर देखता तो वो दोनों मुझे ही देख रही होती थी. तब मुझे लगा कि वो दोनों मुझसे पट सकती है और अब तो मेरे पास उनकी वीडियो क्लिप भी थी, अगर कोई लफड़ा होता है तो में फंस नहीं सकता. “School Girl Group Sex”स्कूल की छुट्टी होने के बाद में अपनी बाईक लेकर स्कूल के बाहर उन दोनों का इंतजार कर रहा था और वो दोनों स्कूल से पैदल जाते हुए कोचिंग जाती थी और वहाँ से ऑटो में घर जाती थी. फिर जैसे ही वो दोनों पैदल जाते हुए कोचिंग जाने लगी तो में मेरी बाईक से उनके पास गया और मैंने बाईक उनके आगे रोक ली तो वो दोनों मुझे स्माईल दे रही थ. फिर मैंने उनसे कहा.में : तुम दोनों को कहीं ड्रॉप कर दूँ?कामिनी : नहीं हम कोचिंग जा रहे है, यही पास में है चले जायेंगे. (उतने में दिशा झट से बोली)दिशा : हाँ, वैसे भी में तो थक गई हूँ, क्या तुम हमें छोड़ दोंगे?में : हाँ.कामिनी : (थोड़ी भारी आवाज में) ठीक है दिशा तू जा, में पैदल चल कर आती हूँ.दिशा : अच्छा ठीक है, तू मेरा नीचे इंतजार करना.में : कामिनी तू भी बैठ जाना, में तुम दोनों को ड्रॉप कर दूँगा.कामिनी : आर यू शॉर? ट्रिपल.में : हाँ, अगर तेरे को अच्छा ना लगे तो उतर जाना.कामिनी : अच्छा ठीक है.फिर मैंने बाईक स्टार्ट की और पीछे वाले रास्ते से यानी की लम्बे रास्ते से उनको ड्रॉप करने चला गया, रास्ते में उनसे खुलकर बात कर सकूँ, इसलिए मैंने लंबा रास्ता लिया था. अब रास्ते में ब्रेक भी लगा रहा था, जिससे दिशा के बूब्स मुझको टच हो रहे थे, दिशा ने उसके हाथ मेरी जांघो पर रखे हुए थे और कामिनी ने अपने हाथ दिशा से चिपका लिए थे. “School Girl Group Sex”दिशा इतनी चालाक थी कि वो चालू बाईक पर मेरी जांघो पर हाथ फेर रही थी, वो में महसूस कर रहा था और इससे मेरा लंड जागने लगा. अब मुझको लगा कि यही सही टाईम है उन दोनों से छत वाली बात करने का तो मैंने दिशा से कहा.में : दिशा, तू खाली क्लास में कहाँ जाती है?दिशा : (शॉक्ड) कहाँ जाती है मतलब?में : मतलब खाली क्लास में तू केम्पस में नहीं दिखती तो कहाँ जाती है? तू और कामिनी दोनों खाली क्लास में कहाँ होते हो?दिशा : कही नहीं, हम क्लास में ही रहते है.में : ओहह, में भी क्लास में ही होता हूँ, लेकिन मैंने कभी तुम दोनों को नहीं देखा.कामिनी : (बात को कट करते हुए) अरे हम कभी-कभी क्लास में होते है और कभी-कभी ग्राउंड पर होते है.में : शशश चल अब तुम दोनों झूठ मत बोलो. मैंने तुझे छत पर देखा है.कामिनी : (घबराते हुए) क्या? कब?में : घबरा मत, मुझे तुम दोनों के बारे में सब पता है.दिशा : क्या पता है?में : हाँ, वही जो तुम दोनों खाली क्लास में छत पर जाकर करते हो.कामिनी : तू ये सब किसी से मत कहना प्लीज.दिशा : हाँ यार देख तुझको पता है ना हम क्या करते है? बता हम क्या करते है?में : हाँ दिशा तू और कामिनी ऊपर क्या करते हो, मुझे सब पता है? तुम एक दूसरे के बूब्स.इतना ही बोलते हुए दिशा ने मेरे मुँह पर हाथ रख दिया और बोली कि बस बस अब ये बात और किसी से मत कहना, ये बात अपने तीनों के बीच में सीक्रेट रहेगी, ओके? फिर मैंने कहा ठीक है चल में किसी को नहीं बताऊंगा, लेकिन बदले में मुझे क्या मिलेगा? “School Girl Group Sex”कामिनी : देख माधव, तुझको कुछ मिले या ना मिले, लेकिन हमारी वाट लग जायेगी तो तू अपना मुँह बंद रखेगा.दिशा : अरे बेबी चल देख हम दोनों को जो चाहिए, वो इसे भी चाहिए क्यों माधव?में : हाँ, तू तो बड़ी समझदार है.कामिनी : ठीक है, लेकिन कुछ भी हो जाए, ये सब बातों का किसी को भी पता नहीं चलना चाहिए.में : अरे हाँ यार कामिनी तुम मुझ पर विश्वास करो, में किसी को भी कुछ नहीं बताऊंगा.कामिनी : (मेरी जांघो पर हाथ फेरते हुए) हाँ तो ठीक है.में समझ गया था कि भले कामिनी इतनी समझदार नहीं है, लेकिन अंदर से उसके अंदर का जानवर भी दिशा जितना ही बड़ा था. अब दोनों की कोचिंग आ गई तो वो दोनों बाईक से उतर गई और दिशा ने कामिनी के कान में कुछ कहा. मैंने कहा क्या हो रहा है? तो वो बोली बस 2 मिनट देखते जाओ. फिर कामिनी ऊपर गई और 5-10 मिनट के बाद नीचे आ गई. तब तक में और दिशा नीचे खड़े थे, असल में कामिनी कोचिंग से छुट्टी लेने गई थी और कोई बहाना बनाकर नीचे आ गई थी, में समझ गया था कि ये दोनों इतनी चालाक है.फिर दोनों वापस बाईक पर बैठ गई और मुझसे कहा कि कहीं सुनसान जगह पर ले चल, इस बार कामिनी बीच में बैठी थी और दिशा पीछे बैठी थी. फिर कामिनी मुझसे चिपक कर बैठ गई थी, मुझको बहुत मज़ा आ रहा था. फिर में वहाँ से थोड़े दूर मेरे एक दोंस्त के रूम पर बाईक ले गया और उसको मैंने बाईक पर ही फोन करके बात कर ली थी. “School Girl Group Sex”अब हम मेरे दोंस्त के रूम पर पहुँच चुके थे, लेकिन मैंने उसे नहीं बताया था कि में उन दोनों की चुदाई करने वाला हूँ, बस मैंने कहा था कि मुझे थोड़े नोट्स लिखने है तो रूम खाली चाहिए और किस्मत अच्छी थी कि वो फ्रेंड भी कहीं बाहर जा रहा था तो वो चाबी अपने रूम के नीचे वॉचमेन को देकर गया था.फिर मैंने एक जगह बाईक रोक दी और मेरे बैग में से कुछ बुक निकाल ली और उनके हाथ में दी, ताकि ऐसा लगे की हम पढाई के काम से आए है, वैसे दुनिया के लिए हम बच्चे थे, लेकिन हम काम बड़ो वाला करने जा रहे थे. फिर हम तीनों रूम में पहुंचे और मैंने अंदर से रूम लॉक कर दिया. मेरा फ्रेंड 4-5 घंटो तक आने वाला नहीं था तो में आराम से उन दोनों के साथ बैठकर टाईम बिता सकता था, उनका कोचिंग भी 3 घंटे का होता है तो घर पर भी उन्हें जल्दी जाने की कोई प्रोब्लम नहीं थी.दिशा और कामिनी दोनों अंदर आकर बैठ गई और में भी उन दोनों के साथ बैठ गया. अब हम वापस स्कूल की छत वाले टॉपिक पर बात करने लगे. अब वो दोनों मेरे आस पास बैठ गई और मुझे यहाँ वहाँ छूने लगी. में कुछ कहता उससे पहले ही दिशा ने मेरे होंठ पर अपने होंठ रख दिए और मुझे स्मूच करने लगी. “School Girl Group Sex”अब कामिनी मेरी पेंट की चैन को खोलने लगी और मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे में कोई सपना देख रहा हूँ, में दिशा को कसकर चूम रहा था और हम दोनों के होंठ एक दूसरे के होंठ को ऐसे चूस रहे थे, जैसे कि बरसो से प्यासे हो. अब दिशा एकदम से गर्म हो गई थी और करीब 10 मिनट तक उसने मुझे लगातार स्मूच किया. अब कामिनी मेरी पेंट की चैन खोलकर मेरे लंड को चूस रही थी.दोस्तों इतना सेक्स मुझे कभी नहीं चढ़ा था तो में 15 मिनट में ही झड़ गया और मेरा सारा वीर्य कामिनी ने टिश्यू पेपर से सॉफ किया और वापस मेरे लंड से खेलने लगी. अब मैंने दिशा का टॉप निकाल दिया और उसकी स्कर्ट भी निकाल दी और अब कामिनी ने अपना टॉप खुद ही निकाल दिया था और वो दोनों ही ब्रा और पेंटी में थी. में दिशा और कामिनी दोनों के बूब्स को मेरे हाथ से दबाने लगा और वो दोनों ही पागलों की तरह मौन करने लगी आअहह उम्म्म्म उफफफ्फ़ आआआहह ओंहहह्ह्ह्ह, ये सुनकर मेरा लंड फिर से एकदम खड़ा और टाईट हो गया.फिर मैंने कामिनी को मेरी बाहों में ले लिया और उसे चूमना स्टार्ट कर दिया, कामिनी को चूमने में ज़्यादा मज़ा आ रहा था, कामिनी को फ्रेंच किस करनी बहुत अच्छे से आती थी तो में करीब 5 मिनट तक उसको चूमता रहा और उसके बूब्स को दबाता रहा, उधर दिशा मेरे लंड और अंडो के साथ खेल रही थी. फिर मैंने थोड़ा म्यूज़िक चालू कर दिया और गर्मी बढ़ रही थी तो ए.सी. भी चालू कर दिया. अब हम तीनों खड़े हो गये और मैंने कहा चलो डांस करते है तो म्यूज़िक पर मैंने उनको स्ट्रिपर्स की तरह डांस करने को कहा. “School Girl Group Sex”धीरे-धीरे मैंने मेरी पेंट उतारी और फिर मैंने अपनी टी-शर्ट भी उतार दी और फिर मैंने उनकी भी ब्रा और पेंटी उतार दी, अब हम तीनों पूरी तरह से नंगे हो गये थे और डांस कर रहे थे. फिर दिशा मेरे आगे आ गई और नीचे झुक गई और अपनी गांड से मेरे लंड को टच करने लगी. फिर अपनी गांड से डॉगी पोज़िशन में मेरे लंड को हिलाने लगी और डांस कर रही थी और कामिनी मेरे बदन पर हाथ फेरकर मुझे गर्म कर रही थी.फिर में दिशा की गांड पर थप्पड़ मारने लगा और ज़ोर-ज़ोर से दिशा की गांड पर थप्पड़ मारे और उसे बहुत मज़ा आने लगा. और फिर कामिनी को भी थप्पड़ मारे, दिशा मेरे आगे थी और कामिनी मेरे पीछे चिपक कर नाच रही थी. फिर मैंने अपने एक हाथ से दिशा की गांड दबा रखी थी और अपने दूसरे हाथ से कभी कामिनी की चूत में उंगली कर रहा था तो कभी उसकी गांड को मुट्ठी में लेकर दबाने लगता. उसे इन सब में बहुत मज़ा आ रहा था और वो भी अपने दांतों से मेरे पेट पर और कंधो पर काट रही थी और वो मेरी पीठ को चूम रही थी और वो बिल्कुल मदहोश हो गई थी. फिर मैंने कामिनी से कहा कि वो सोफे पर बैठ जाए और फिर मैंने दिशा को डॉगी स्टाईल में खड़ा कर दिया और उसकी चूत चाटी तो वो एकदम से उछल पड़ी और आहह करने लगी.फिर मैंने दिशा से कहा कि वो कामिनी की चूत को चूसे और फिर में पीछे से दिशा की चूत में अपने लंड को डालने लगा. दिशा कामिनी की चूत को एकदम आइसक्रीम की तरह चाट-चाटकर खाने लगी थी और उन दोनों की मौन की आवाज़े सुन-सुनकर मेरा लंड एकदम ही गर्म होकर टाईट हो गया था. “School Girl Group Sex”मेरा लंड इतना टाईट पहले कभी नहीं हुआ था और में पीछे जाकर दिशा की चूत में अपने लंड को रगड़ने लगा, उसकी चूत इतनी गीली हो गई थी कि ल्यूब्रिकेशन की ज़रूरत ही नहीं पड़ी और मेरे लंड को में उसकी चूत के लिप्स पर घुमा-घुमाकर टच कर रहा था और उसे तड़पा रहा था और वो आअहह उम्म्म्मममम कर रही थी. उसकी चूत टाईट थी तो मैंने धीरे-धीरे अपने लंड को उसकी चूत के छेद में डालने की कोशिश की, लेकिन उसकी चूत एक वर्जिन चूत थी तो वो बहुत ही टाईट थी.फिर मैंने 1-2 बार धीरे-धीरे कोशिश की और थोड़ा-थोड़ा करके मेरे लंड को उसकी चूत में डाला तो मेरे लंड का सिर्फ़ आगे का हिस्सा उसकी चूत में जाते ही वो एकदम ज़ोर से चीखी और चिल्लाई. फिर मैंने कामिनी से कहा कि उसको लिप किस करे और उसकी आवाज़ को दबाये तो कामिनी झट से दिशा को स्मूच करने लगी और उसकी चीखने की आवाज़ को कम करने लगी. फिर मैंने धीरे से मेरे आधे लंड को उसकी चूत में डाल दिया और में थोड़ी देर तक बिना हिले ऐसे ही खड़ा रहा, जब तक दिशा शांत हुई.मैंने धीरे-धीरे मेरे लंड को आगे पीछे करना शुरू किया और दिशा को थोड़ा दर्द हो रहा था तो वो आआहह कर रही थी, वो दर्द भी एक मीठा दर्द था तो उसे भी मज़ा आ रहा था. फिर थोड़ा आगे पीछे करते हुए मैंने देखा कि उसकी सील टूट गई है और मेरे लंड पर उसकी चूत का खून लगा हुआ है. “School Girl Group Sex”फिर मैंने टिश्यू पेपर लिया और मेरे लंड को और उसकी चूत को साफ किया और वापस से मेरे लंड को उसकी चूत में डाल दिया, अब दिशा को मज़ा आ रहा था और वो ज़ोर-ज़ोर से मौन कर रही थी, फक मी माधव, फक मी पुसी, अहह प्लीज फक मी, ऊओह अहमम्म्ममम उहमम्म्मममम.फिर मैंने धीरे-धीरे अपने चोदने की स्पीड को थोड़ा तेज किया और एक रफ़्तार में आकर उसको चोदने लगा और ऐसे ही चोदते-चोदते वो चिल्लाई आहह में आ रही हूँ, रुकना नहीं उहमम्म्मममममम उफ़फ्फ़ अहह और एकदम से अपने पूरे बदन को हिलाती हुई और वो एकदम से ढीली पड़ गई और झड़ गई.उसकी चूत के पानी से मेरा लंड पूरा भीग गया था और में अभी भी उसे चोद रहा था तो अब उसकी चूत के पानी की वजह से चोदने की आवाज़ आने लगी, पच पच पच और 5 मिनट तक ऐसे ही चोदते हुए मेरा भी पानी निकलने वाला था. फिर मैंने कहा कि मेरा भी होने वाला है तो बोल दिशा में अपना पानी कहा डालूँ? दिशा आहह अहह आई एम कमिंग बेबी, अहह और ऐसे ही मैंने उसकी चूत में से अपने लंड को निकाला और उसकी पीठ पर झड़ गया. “School Girl Group Sex”उसकी पीठ मेरे पानी से पूरी भर गई थी और में अपने लंड को उसकी पूरी गांड पर रगड़ने लगा और कामिनी हमारी चुदाई देख रही थी और अपनी चूत से खेल रही थी. वो भी ऐसे करते-करते एक बार झड़ चुकी थी. फिर में ढीला पड़ गया और उसे एक किस करते हुए में वहीं सोफे पर कामिनी के बाजू में बैठ गया. फिर कामिनी ने मेरे लंड को चूसा और मेरे लंड को साफ कर दिया.फिर थोड़ी देर तक हम ऐसे ही बैठे रहे और अब कामिनी मेरे लंड से खेल रही थी और मानो मेरे लंड से कह रही हो कि अब मेरी बारी है. फिर थोड़ी ही देर में मेरा लंड फिर से टाईट हो गया और अब वो कामिनी की चुदाई करने के लिए एकदम तैयार था. फिर मैंने कामिनी को चोदा और कपड़े पहनकर बहार आ गये. फिर हमने दोस्त का रूम लॉक किया और चाबी वाचमेन को देकर अपने घर चल दिये.ये School Girl Group Sex कहानी आपको पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक और Whatsapp पर शेयर करे……………कहानी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे…Like this:Like Loading…Related

Read more Antervasna sex kahani on – Antarvasna