Old Man Hardcore Sex – बूढ़े बॉस को जवान चूत से मनाया 2

Old Man Hardcore Sex होटल में सेक्सी चुदाई पढ़े हेल्लो दोस्तों, मैं प्रियंका आपका फिर से स्वागत करती हूँ हमारी वासना में. आपने मेरी कहानी बूढ़े बॉस को जवान चूत से मनाया 1 में पढ़ा होगा. की मैंने कैसे अपने पापा के दोस्त की नौकरी बचने के लिए उनके बूढ़े बॉस से मिलने गई, अब आगे. Old Man Hardcore Sexमैंने उसकी शर्ट और बनियान निकाल दी और उसको होंठों से चूम लिया। उसने मेरी शर्ट एवं ब्रा निकाल दिया और कुर्सी पर बैठ गया। अभी उसका लंड पूरी तरह खड़ा नहीं हुआ था। मैंने उसको उत्तेजित करने केलिए हाई हील के सैंडिल पहन लिए और बोला मैं कैट वॉक करके दिखाती हूं।उसने मुझे पूछा क्या वो मेरी तस्वीरें ले सकता है ताकि बाद में मेरी तस्वीरें देख कर मुठ मार सके। मैंनें कुछ देर सोचा और हां बोल दिया और मैंने भी उसकी कुछ नंगी तस्वीरें खींच लीं। मैंनें उसकी तस्वीरें इसलिए लीं ताकि वो मुझे ब्लैकमेल न कर सके।मैं जानती थी कि वो मुझे तस्वीरें दिखाने के बहाने ब्लैकमेल कर सकता है और वो शहर कका इज्जतदार आदमी है तो अगर मेरे पास उसकी नग्न तस्वीरें होंगीं तो उसे डर रहेगा। इन्हीं तस्वीरों के डर से वो अंकल को आगे से परेशान नहीं करेगा।मैं अपनी मोटी गांड को सेक्सी तरीके से हिला कर चलने लगी और उसको उत्तेजित करने के लिए अपने बूब्ज़ हाथों में पकड़ कर उसको उछाल उछाल कर दिखाने लगी। वो मुझे कैट वॉक करती देख कर अपना लंड सहलाते हुए अपने मोबाइल पर मेरी मूवी बनाने लगा।इसे भी पढ़े – मेरे अन्दर का कामदेव जगा दियामैंने कुछ देर ऐसे उसको उत्तेजित किया और रुक गई। उसने मुझे चुदाई की मूवी बनाने को पूछा लेकिन मैंने मना कर दिया। लेकिन उसको बहुत प्यार से कहने से मैं मना नहीं कर पाई। उसने अपने मोबाइल का कैमरा चालू करके एक जगह लगा दिया औय मैंने भी अपना मोबाइल लगा दिया। उसका लंड अभी भी ठीक से नहीं खड़ा हुआ था। मैं उसके पास गई और सामने खड़ी हो गई। मैं वैसे ही उससे लंबी थी और अब मैंने तीन इंच की हील पहनी हूई थी। उसका सिर मेरे बूब्ज़ तक ही पहुंच रहा था।मैं सैंडिल उतारने लगी लेकिन उसने मना कर दिया और बोला सैंडिल मत उतारना डार्लिंग, हाई हील में बहुत सेक्सी लगती हो और तुम्हारी उभरी हुई गांड बहुत मस्त लगती है। मैंनें कहा ठीक है और सैंडिल नहीं उतारे।मैंनें आगे होकर अपने होंठों को उसके होंठों से सटा दिया और हाथ से उसका लंड पकड़ लिया। मेरे कोमल हाथ का स्पर्श पाते ही उसका लंड तन गया। मैंने शुक्र मनाया कि उसका लंड खड़ा हो गया, अभी तक लग रहा था उसका लंड खड़ा नहीं होगा और मुझे बिना चुदाई के ही सबर करना पडे़गा।मैंनें उसके लंड को देखा तो उसका लंड काफी मोटा, लंबा और शानदार हो गया था। मैं उसके होंठों को जोर जोर से चूसने लगी और लंड को हिलाने लगी। जैसे-जैसे मैं उसके लंड को हिला रही थी वैसे-वैसे उसका लंड फूल रहा था और बिल्कुल लोहे की रॉड की तरह सख्त हो गया। वो भी पूरी तरह गर्म हो गया और मेरे नर्म एवं रसीले होंठों को जोर से चूसने लगा और मेरे चूतडो़ं को हाथों से दबाने लगा। मैंने अपनी जीभ उसके मुंह में धकेल दी और वो मजे से मेरी जीभ को मुंह से खींच कर रस निचोड़ने लगा।हम दोनों बहुत जंगली तरीके से एक-दूसरे को चूमने लगे। हम एक-दूसरे के मुंह में जीभ घुसा कर मुंह के अंदर से रसपान करते, एक-दूसरे की जीभ को जोर से चूस कर जीभ का रस निचोड़ते और होंठों को चूस कर रसपान करते-करते दांतों से काट लेते।मुझे बहुत मजा आ रहा था और आज पहली बार अपने से छोटे कद वाले आदमी से चुदने जा रही थी। मैं सीधा खड़ी हो गई और उसके चेहरे पर अपने बडे़-बड़े खरबूजों जैसे बूब्ज़ लगा दिए। वो बूढ़ा मेरा बूब्ज़ पर ऐसे टूट पड़ा जैसे उसने कभी बूब्ज़ देखे ही न हों।वो मेरे बूब्ज़ को बहुत जोर से मसलने लगा और मेरे निप्पलों को ऊंगली एवं अंगूठे के बीच दबा कर रगड़ने लगा। वो मेरे बूब्ज़ को मुंह में भरकर चूसने लगा और मेरे निप्पलों पर जीभ घुमाते हुए मुंह में खींच कर चूसता। वो मेरे बड़े-बड़े एवं चिकने बूब्ज़ का बहुत जोर से रसपान करने लगा।वो एक दम वहशी बन गया था और मेरे बूब्ज़ को ऐसे चूस रहा था जैसे खा ही जाएगा। मुझे उसके वहशीपन से बहुत आनंद मिल रहा था और मैं जोर से उसका सिर अपने बूब्ज़ पर दबाने लगी। कुछ देर पहले जो आदमी मुझे अच्छा नहीं लग रहा था. उसी आदमी पर मुझे बहुत प्यार आ रहा था और उसकी हर हरकत मुझे बहुत कामुक और उत्तेजिक लगने लगी। अब दिल करने लगा ये बूढ़ा आदमी मेरे साथ ऐसे ही छेड़छाड़ करता रहे और ऐसे चोदे कि कई दिन लगातार चोदने के बाद ही इसके लंड से पानी निकले।उसने घुटनों के बल नीचे बैठ गया और मेरे गोरे, नाजुक एवं चिकने पेट को चूमने लगा। वो मेरे पेट को हर जगह से चूम रहा था और मेरी नाभि को ज्यादा चूम रहा था। वो मेरे पेट को चूमने लगा और नाभि में जीभ घुसा कर घुमा देता।मैं उसकी कामुक हरकतों से मचल रही थी। अब वो मेरे पेट को अपने मुंह में लेकर जोर से चूसने लगा और काटने लगा। जब जब वो वहशी होता तब तब मुझे उस पर ज्यादा प्यार आता। मैं चाहती थी वो मुझे इसी वहशीपन से चोद चोद कर मेरी चूत एवं गांड को फाड़ डाले और मेरी चुदाई की आग को अपने वहशीपन से शांत कर दे। “Old Man Hardcore Sex”उसने मुझे घुमा दिया और मेरे चूतडो़ं को चाटने और काटने लगा। जब वो मेरे चूतडो़ं की फांकें खोलकर गांड के छेद को चूमता तो मुझे अजीब सा मजा आता। अब उसने दीवान पर लेट कर सिर नीचे लटका लिया और मुझे टांगें खोलकर अपने मुंह पर आने को बोला।मैं उसका सिर अपनी टांगों के बीच लेकर खड़ी हो गई। उसने अपने हाथ ऊपर करके मेरे बूब्ज़ पकड़ लिए और मेरी भरी हुई जांघों को अंदर से चूमते हुए मेरी चूत पर होंठ रख दिए। उसने मेरी चूत को जोर से चूमा और मेरी चूत में जीभ घुसेड़ दी।वो मेरी चूत के अंदर तक जीभ ले जाकर हिला हिला कर चाटने लगा और मेरे बूब्ज़ बहुत जोर से दबाने लगा। उसके चूत चाटने से सपड़… सपड़… की आवाजे़ं आ रही थी, जिसकी वजह से मुझे मस्ती चढ़ने लगी। मैं मस्ती में मचलती हुई अपनी गांड हिला हिला कर अपनी चूत उसके मुंह पर रगड़ने लगी। “Old Man Hardcore Sex”उसने मुझे दीवान पर कोहनियों के बल लेटा दिया और अपना लंड मेरे सामने कर दिया। अब मैंने पहली बार उसका लंड गौर से देखा जो मेरी कल्पना से कहीं ज्यादा लंबा और मोटा था। उसका शानदार लंड देखकर उसके लंड केलिए बेहद प्यार उमड़ने लगा। मैंने लपक कर उसके लंड की चमड़ी पीछे की और लाल टोपा बाहर आ गया।उसके लंड का शानदार लाल टोपा देखकर मेरे मुंह में पानी भर आया और मैं उसके टोपे पर जीभ घुमा घुमा कर चाटने लगी। उसके गीले टोपे का नमकीन स्वाद बहुत अच्छा लग रहा था। मैंने अपना मुंह खोलकर उसका सारा लंड मुंह में ले लिया और चूसने लगी।मुझे उसके लंड का स्वाद बहुत अच्छा लग रहा था और ऐसा लग रहा था जैसे मैं पसंदीदा डिश खा रही हूं। मैं उसके लंड को चूसते हुए एक हाथ से उसके अंडकोषों से खेलने लगी। वो आराम से खड़ा आंहें भर रहा था और मजा ले रहा था।इसे भी पढ़े – भाभी पोर्न देख कर चूत रगड़ रही थीमैं उसके वहशी होने का इंतजार करने लगी और जल्दी ही वो वहशी बन गया। उसने मुझे बालों से पकड़ा और मेरे मुंह में धक्के मारने लगा। उसका लंड मेरे गले में अंदर-बाहर होने लगा और मैं भी सिर को आगे-पीछे करके उसका लंबा मोटा लंड गले के और नीचे तक लेने लगी। “Old Man Hardcore Sex”उसका वहशीपन मुझे अच्छा लग रहा था और मुझे ऐसी ही वहशी जोश वाली चुदाई अच्छी लगती है। लंड के मेरे गले के अंदर-बाहर होने से गप्प… गप्प… की आवाजे़ं आने लगीं और उसका जोश बढ़ता जा रहा था।वो कुर्सी पर बैठ गया और मुझे गोद में आने को बोला। मैंने अपनी टांगें मोड़कर कुर्सी पर रखीं और उसके लंड पर अपनी चूत टिका दी। मैं धीरे-धीरे गांड को नीचे धकेलने लगी और उसका लंड मेरी चूत में फंसता हुआ जड़ तक बैठ गया। मैंने अपनी गांड ऊपर उठा कर तेज़ी से नीचे धकेल दी।उसका लंड सीधा मेरी बच्चेदानी से टकरा गया और मेरे मुंह से आह निकल गई। उसने मुझे रुकने को बोला और गिलास में दारू डाल ली। उसने गिलास मेरे हाथ में देते हुए कहा मैं उसको अपने मुंह से दारू पिला दूं। मैंने अपने मुंह में दारू ली और उसके होंठों से होंठ लगा कर उसके मुंह में डाल दी। “Old Man Hardcore Sex”फिर उसने अपने मुंह में दारू ली और मेरे मुंह में डाल दी। मैंने गटाक से दारू गले के नीचे उतार ली। मैंने दारू की बोतल उठाई जो आधे से कम थी और बोतल में ही सोडा मिला दिया। मैंने बोतल अपने होंठों से लगाई और काफी दारू खींच ली। थोड़ी दारू उसको पिला दी और बाकी दारू उसकी छाती और अपने बूब्ज़ पर गिरा ली।मैंने अपने बूब्ज़ उसकी छाती पर मसल दिए और हम दोनों के पेट, उसकी छाती और मेरे बूब्ज़ पूरी तरह दारू से भीग गए। मैं सिर नीचे झुका कर उसकी दारू से भीगी छाती को जीभ से चाटने लगी।उसकी कोमल छाती के निप्पलों से दारू चाटने का मुझे बहुत आनंद आ रहा था। मैंने अपने बूब्ज़ उसके चेहरे पर सटा दिए और उसके लंड पर उछलने लगी। वो मेरे बूब्ज़ को चूस कर दारू और मेरे बूब्ज़ के रस का एक साथ मजा लेने लगा। “Old Man Hardcore Sex”वो कस कस कर मेरे बूब्ज़ चूसते हुए मेरी चूत में लंड पेलने लगा और मैं उसके गंजे सिर को चूमते हुए गांड ऊपर-नीचे हिलाकर चूत के अंदर-बाहर लंड करने लगी। लंड के अंदर-बाहर होने से फच.. फच.. की आवाजें आने लगी और मैं मस्ती में चिल्ला रही थी। उस बूढ़े के मुंह से भी आंहें निकल रही थी और उसको बहुत मजा आ रहा था।मैंने उसका लंड चूत से निकाल लिया और खड़ी हो गई। उसने मुझे कहा अगर सही लगे तो क्या मैं गांड में लंड डाल सकता हूं, मैंने आज तक गांड का स्वाद नहीं देखा बस सुना है बहुत मजा आता है। क्या तुम मुझे वो मजा दे सकती हो प्लीज़। मैंने उसको स्माईल दी और होंठों को चूम लिया।मैं दीवार से सट कर खड़ी हो गई और अपने चूतड़ खोलकर उसको स्माईल देखकर आंख मार दी। वो खुश हो गया और मेरे पीछे फर्श पर फट्टा रख कर खड़ा हो गया। उसने मेरी गांड पर थूक लगाया और अपने लंड पर भी थूक लगा लिया। उसने मेरी गांड के छेद पर लंड लगा दिया। वो मेरी गांड पर लंड दबाने लगा और मैं अपनी गांड को पीछे धकेलने लगी। उसका लंड मेरी गांड को खोलता हुआ गांड में समा गया। “Old Man Hardcore Sex”मैं दीवार से हाथ लगा कर गांड आगे-पीछे करने लगी और वो मेरे बूब्ज़ को पकड़कर मेरी गांड चोदने लगा। उसका लंड मेरी गांड के अंदर तक जा कर मुझे मजा दे रहा था और मैं बहुत जोर से गांड को धकेल कर उसका लंड और अंदर तक लेना चाहती थी। “Old Man Hardcore Sex”जब लंड मेरी गांड के अंदर-बाहर हो रहा था तब मेरे चूतड़ में हलचल हो रही थी। उसने मेरी गांड से लंड निकाल कर मुझे घुमा दिया और मेरी टांग उठा ली। नीचे फट्टा रखने से उसका कद मेरे बराबर हो गया था। उसने मुझे कस के पकड़ लिया औल मेरी चूत में लंड पेल दिया।मैंने भी उसको कस कर पकड़ लिया और मेरे बूब्ज़ उसकी छाती में दब गए। वो मेरी चूत चोदने लगा लेकिन उसकी मोटी तोंद की वजह से लंड पूरी तरह अंदर नहीं जा रहा था। मैं पीछे होकर दीवार से सट गई और मेरी चूत ऊपर को उठ गई और उसका लंड पूरा अंदर तक जाने लगा। उसका लंड मेरी बच्चेदानी से टकरा कर बाहर आता और कामुक आवाजें आतीं। “Old Man Hardcore Sex”उसने मुझे दीवान पर कुतिया की जैसे गांड उठा कर बैठा दिया और मेरी गांड पर दारू की खाली बोतल उल्टी कर दी, जिस में से दारू की कुछ बूंदें मेरी गांड पर गिर गईं। उसने मेरे चूतडो़ं तथा गांड के छेद से दारू की बूंदें जीभ से चाट कर साफ कर दीं और गांड के छेद पर चुम्मा ले लिया।उसने पीछे से मेरी गांड में लंड दे दिया और ताबड़तोड़ झटकों से मेरी गांड चोदने लगा। उसके हर झटके से मेरा बदन हिल रहा था। उसने मेरी गांड से लंड निकाल कर मेरी गांड को ऊपर किया और मेरी चूत ऊपर उठ गई। उसने पीछे से ही मेरी चूत में लंड पेल दिया और मेरी चूत ठोकने लगा। “Old Man Hardcore Sex”वो बहुत तेज़ी से मुझे चोद रहा था और उसकी तोंद मेरे चूतडो़ं से टकरा रही थी। मैं भी गांड पटक पटक कर चूत चुदाई का मजा ले रही थी। मैं चुदते हुए सोच रही थी एक बूढ़ा भी इतने जोश से चोद सकता है। उसकी रफ्तार काफी बढ़ गई और उसने मुझे कहा कि मैं झड़ने वाला हूं माल कहां निकालूं।मैंने कहा जहां दिल चाहे और अच्छा लगे। उसने मुझे दीवान पर लेटा लिया और मेरे ऊपर आकर मेरे बूब्ज़ के बीच लंड रख दिया। मैंने अपने दोनों बूब्ज़ को पकड़ कर उसका लंड बीच में ले लिया और वो मेरे बूब्ज़ चोदने लगा। “Old Man Hardcore Sex”इसे भी पढ़े – बेटी ने बाप को जिस्म का मज़ा लेने दियाथोड़ी देर बाद उसके लंड से एक के बाद एक वीर्य की पिचकारियां निकलीं और मेरी गर्दन पर गिर गईं। मेरी गर्दन और बूब्ज़ उसके वीर्य से सन गए। अब वो बहुत खुश था और उसने मुझे होंठों पर चूम कर थैंक्स बोला।मैंने भी उसको चूमा और खड़ी हो गई। वो अपने कपड़े पहनने लगा और मैंने खुद को साफ किया। वो मुझे मेरे गांव तक अपनी गाड़ी में छोड़कर गया और रास्ते में मैंने एक बार फिर उसका लंड चूस कर उसका पानी निकाला। दूसरे दिन पापा का दोस्त मिठाई लेकर आया और मुझे थैंक्स बोला।ये Old Man Hardcore Sex की कहानी आपको पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक उअर Whatsapp पर शेयर करे…………कहानी को अपने दोस्तों के साथ शेयर करे…Like this:Like Loading…Related

Read more Antervasna sex kahani on – Antarvasna